असंभव निर्णय क्या है ??

एक ऐसा कठिन निर्णय जो लिया जा सके और जिसकी लक्ष्य प्राप्ति में कितनी भी दुविधा आए उसे पार करके हम प्राप्त कर लें: चाणक्य वर्तमान मोदी सरकार कुछ इसी नीति पर चलते हुए जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है. धारा 370 जो जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देती है 26 जनवरी 1950 को अस्थाई व्यवस्था रूप में लागू हुई थी

परंतु इसके बाद हर सरकार ने इसको दूर करने का कोई जतन नहीं बनाया और अपनी राजनीतिक लाभ के लिए इसका इस्तेमाल किया गया. आप चाहते हो कि कुछ कश्मीर की रक्षा भारत करें कश्मीरियों को भारत पर पूरा अधिकार मिले परंतु भारतवासियों को कश्मीर पर अधिकार ना देकर आप एक अन्याय कर रहे हो जो मुझे कभी भी स्वीकार नहीं होगा.

यह बात भारत के संविधान रचनाकर भीमराव अंबेडकर ने शेख अब्दुल्ला को 1949 में कहा था
370 धारा के चलते जम्मू कश्मीर के लोगों के साथ मात्र बस एक छलावा हुआ है और उसे बाकी के भारत से दूर करने की एक कोशिश की जा रही है, कश्मीरियत के नाम पर वहां पर कट्टर इस्लामिक उन्माद फैलाया जा रहा है, विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने के नाम पर कश्मीर में कोई भी अन्य हिंदुस्तानी निवेश नहीं कर सकता ना ही कोई जमीन या वहां के बाजारों में निवेश कर सकता है.

अब आप सोच और समझ लीजिए, वर्तमान परिस्थितियों में कश्मीर अर्थव्यवस्था सिर्फ मुट्ठी भर लोगों की बन के रह गई है और यह मुट्ठी भर लोग वहां अपने हिसाब से लोगों को नचा रहे हैं और भारत विरोधी गतिविधियां मजबूत कर रहे हैं.

2014 मोदी जी की सरकार के नेतृत्व में अजीत डोभाल, राम माधव और अन्य विशेषज्ञ धारा 370 के अंश की ओर एक लंबी रणनीति पर काम कर रहे हैं. भारत विरोधी तत्व हुर्रियत पत्थरबाज आतंकी एवं राजनीतिक रूप बना चुके तत्व इन सब पर अभूतपूर्व कार्रवाई हो रही है

राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, एक संघ के व्यक्ति का होना. लोकसभा एवं राज्यसभा में दो तिहाई बहुमत होना यह सब परिस्थितियां धारा 370 को जम्मू कश्मीर से हटाने के लिए बहुत ही अनुकूल है. सेना की कश्मीरी घाटी मैं हो रही अभूतपूर्व कारवाई इस बात का संदेश देती है कश्मीरियों या तो देश की विकास की ओर कदम बढ़ाओ, अन्यथा अब भारत विरोधी आतंकवाद चलाने पर 72 हूरों से मिला दिया जाएगा. याद रखिए हर जंग को जीतने के लिए जरूरी है सही वक्त पर सही फैसला

यकीन मानिए मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को हटाने की पृष्ठभूमि बना चुकी है अब वक्त आ चुका है कि किसी भी सही समय धारा 370 हटा दिया जाएगा