दिल्ली के राजनीति में नाटकीय मोड़ आ गया है| आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों पर चली चुनाव आयोग की मार|

ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में 20 आम आदमी पार्टी विधायकों को चुनाव आयोग ने अयोग्य घोषित कर दिया है| और राष्ट्रपति से गुहार लगाई है की इनको तत्काल इस्तीफा दिला दिया जाए| इस बड़े राजनीतिक घटनाक्रम में अब अपने आप को सब से दाग हीन बताने वाले अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी बड़ी मुश्किल में फंसे दिख रही है|

दूसरों के ऊपर आरोप लगाने वाले अरविंद केजरीवाल जरूर इस मामले पर चुप्पी साध लेंगे और इसे मोदी की साजिश बताएंगे| परंतु केजरीवाल जी ऐसा करने से आप सच को छुपा नहीं सकते| आपकी काली नियत और काली सोच वाली पार्टी पूरी तरह से नंगी हो चुकी है|

संभवता इस घटनाक्रम के बाद हम दिल्ली में दोबारा चुनाव होने की संभावना दिख रही है|