हरियाणा के गुरुग्राम में एक मुस्लिम युवक की जबरन दाड़ी काटने के मामले में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का विवादित बयान आया है। हमेशा अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले औवेसी ने एक बार फिर से कुछ ऐसा कहा है, जिस पर विवाद होना तय है।

गुरुग्राम में 2 अगस्त को हुई इस घटना पर बयान देते हुए ओवैसी ने उन लोगों पर निशाना साधा, जिन्होंने कथित तौर जबर्दस्ती एक मुस्लिम युवक की दाढ़ी कटवा दी थी।

हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, जिन्होंने ये सब किया है, मैं उनसे और उनके पिता से ये कहना चाहता हूं कि यदि तुम हमारे गले भी काट दोगे तब भी हम मुस्लिम ही रहेंगे। हां हम तुम्हें जरूर मुस्लिम बना देंगे और तुम्हें ही दाढ़ी रखने पर मजबूर कर देंगे। हालाँकि ये पहली बार नहीं है, जब ओवैसी ने ऐसे बयान दि‍ए हों।

ओवैसी ने इस मौके पर राहुल गांधी और पीएम मोदी के गले मिलने पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, अगर मैं पीएम मोदी से हाथ भी मिला लूं तो मेरे खिलाफ फतवा जारी कर दिया जाएगा। लेकिन कांग्रेस किसी भी नेता ने राहुल गांधी के खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोला।

हरियाणा के गुरुग्राम में जबरन एक मुस्लिम युवक की दाढ़ी काटने और उसके साथ मारपीट का मामला सामने आया है। पीड़ित जब शिकायत लेकर संबंधित थाने पहुंचा तो पहले पुलिस आनाकानी करती रही लेकिन बाद में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

घटना गुरुग्राम के सेक्टर 37 की है। जहां कुछ लोगों ने जफरुद्दीन नामक युवक को पकड़ लिया और उसके साथ बदसलूकी वे उसे एक नाई की दुकान में ले गए और उसे जफरुद्दीन की दाढ़ी काटने के लिए कहा। नाई ने उसकी दाढ़ी काटने से मना कर दिया। उन्होंने ने जफरुद्दीन को दुकान में रखी सीट से बांध दिया। और फिर नाई से जबरदस्ती उसकी दाढ़ी कटवा दी, वारदात को अंजाम देकर आरोपी वहां से फरार हो गए।

जफरूद्दीन की दाढ़ी काटने के मामले में पुलिस गौरव और नितिन नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। लेकिन साथ में नाई को भी गिरफ्तार कर लिया। जबकि पीड़ित का आरोप है की नाई से मारपीट की गई थी और तब उसने दाढ़ी काटी। डीसीपी का कहना है कि बैठने को लेकर झगड़ा हुआ था, जबकि पीड़ित का कहना है की बैठने को लेकर या किसी तरह का कोई झगड़ा नहीं हुआ था।